Desh Bhakti Shayari in Hindi

Desh Bhakti Shayari in Hindi-देशभक्ति शायरी

दोस्तों ! हमारा देश हम सब देशवासियों का गर्व है, अभिमान है. हमारे देश के लिए हमारे मन में सदैव सम्मान और समर्पण की पवित्र भावना बनी रहती है. देश के लिए तन-मन-धन समर्पित करने का जज्बा हमारे अन्दर हमेशा कायम रहना चाहिए. तो इसी कड़ी में आज की पोस्ट- Desh Bhakti Shayari in Hindi-देशभक्ति शायरी में हम Desh Prem Shayari पढेंगे, जिससे हमारे मन में देश के प्रति और भी अधिक गर्व और अनुराग की भावना बलवती हो जाएगी. उम्मीद है कि आपको आज की Desh Bhakti Shayari in Hindi-देशभक्ति शायरी जरुर पसंद आएगी.

Desh Bhakti Shayari in Hindi-देशभक्ति शायरी

ये जमीन सबकी है ये आसमान सभी का है

प्यारा देश फले-फूले ये अरमान सभी का है

इस मिट्टी को सबने खून-पसीने से सींचा है

किसी एक का नहीं ये हिन्दुस्तान सभी का है..

Ye jameen sabki hai ye aasman sabhi ka hai

Pyara desh phale-phoole ye armaan sabhi ka hai

Is mitti ko sabne khoon-paseene se seencha hai

Kisi ek ka nahi ye Hindustaan sabhi ka hai..

Desh Bhakti Shayari
Desh Bhakti Shayari

Patriotic Shayari In Hindi

कुरबान इस पर हम अपना भी तन-मन करेंगे

बना रहे सबका भाईचारा इसका जतन करेंगे

नहीं आने देंगे तुम पर कोई जरा सी भी आँच

हिफाज़त तेरी मरते दम तक ऐ वतन करेंगे..

Kurbaan is par ham apna bhi tan-man karenge

Bana rahe sabka bhaichara iska jatan karenge

Nahin aane denge tum par koi jara si bhi aanch

Hifaazat teri marte dam tak ae watan karenge..

Desh bhakti Shayari for Independence Day in Hindi
Desh bhakti Shayari for Independence Day in Hindi

ये भी पढ़ें : How To Be Self Dependent-आओ आत्मनिर्भर बनें

Watan Shayari-देश भक्ति पर शायरी

हमारा ये वतन दुनिया में सबसे न्यारा है

देश हमारा दुनिया की आँखों का तारा है

तन, मन, धन और प्रण से हम रक्षा करेंगे

हमारा हिंदुस्तान हमको जान से प्यारा है..

Hamara ye watan duniya mein sabse nyara hai

Desh hamara duniya ki aankho ka taara hai

Tan, man, dhan aur pran se ham raksha karenge

Hamaara Hindustaan hamko jaan se pyaara hai..

Watan Shayari
Watan Shayari

Deshbhakti Shayari

हर दिशा से बस एक यही पुकार होती रहे

केवल एक बार नहीं ये तो हर बार होती रहे

सुनकर सबका मन खिल उठे कुछ इस कदर

हमारे देश की हमेशा जय-जयकार होती रहे..

Har disha se bas ek yahi pukaar hoti rahe

Keval ek baar nahin ye to har baar hoti rahe

Sunkar sabka man khil uthe kuchh is kadar

Hamaare desh ki hamesha jay-jayakaar hoti rahe..

Deshbhakti Shayari
Deshbhakti Shayari

इसे भी पढ़ें : You Can Do It-तुम इसे कर सकते हो

Deshbhakti Hindi Shayari

हर पंथ, हर संप्रदाय, हर भाषा का सम्मान हो

इंसान की बस इंसान के रूप में पहचान हो

जब बात देश की चले तो सब एक हो जायें

सबके दिल में सबसे पहले बस हिंदुस्तान हो..

Har panth, har sampradaay, har bhaasha ka sammaan ho

Insaan ki bas insaan ke roop mein pahchan ho

Jab baat desh ki chale to sab ek ho jaayen

Sabke dil mein sabse pahle bas Hindustaan ho..

Deshbhakti Hindi Shayari
Deshbhakti Hindi Shayari

Desh Prem Shayari-देश प्रेम शायरी

ना कुछ तेरा है और ना ही कुछ मेरा है

सबको शायद किसी एक भ्रम ने घेरा है

आओ दिलों में हम वतन की शमां जलायें

ये मुल्क जितना मेरा है उतना ही तेरा है..

Na kuchh tera hai aur na hi kuchh mera hai

Sabko shaayad kisi ek bhram ne ghera hai

Aao dilo mein ham vatan ki shama jalaayen

Ye mulk jitna mera hai utna hi tera hai..

Desh Prem Shayari
Desh Prem Shayari

ये भी पढ़ें : Motivational Shayari in Hindi-प्रेरणादायक हिंदी शायरी

Desh Bhakti Shayari in Hindi-देशभक्ति शायरी

हम सब मिलकर खुशियों के गीत गायेंगे

हर त्योहार हम संग-संग मिलकर मनायेंगे

जाति,पंथ,भेष और भाषा का भेद मिटाकर

भारत को एक बार फिर से विश्व गुरु बनायेंगे..

Ham sab milkar khushiyon ke geet gayenge

Har tyohaar ham sang-sang milkar manayenge

Jaati,panth,bhesh aur bhaasha ka bhed mitakar

Bharat ko ek baar phir se vishva guru banayenge..

Desh Bhakti Shayari Hindi mein
Desh Bhakti Shayari Hindi mein

इसका वीडियो भी देखें :

अगर आपको वीडियो देखना पसंद है तो हमारे YouTube channel पर visit कीजिये, जिसका नाम है दिल से शायरी.

तो दोस्तों ! ये थी आज की पोस्ट-Desh Bhakti Shayari in Hindi-देशभक्ति शायरी. आज की ये पोस्टआपको कैसी लगी, हमें अपनी राय या Suggestion जरुर बताइयेगा. और भी ऐसे बेहतरीन लेख पाने के लिए आप हमें Subscribe जरुर कीजिये.

2 thoughts on “Desh Bhakti Shayari in Hindi-देशभक्ति शायरी”

  1. धर्मेन्द्र जी देश भक्ति पर शेयर की गई आपकी ये कविताए बेहतरीन और प्रेरक है
    धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!