You Can Do It

You Can Do It-तुम इसे कर सकते हो

You Can Do It-तुम इसे कर सकते हो

अपने पथ पर निरंतर आगे बढ़ते रहने से तुम्हें कौन रोक सकता है? तुम स्वयं ही खुद को रोक सकते हो और दुनिया की कोई ताकत तुम्हारे रास्ते को अवरुद्ध नहीं कर सकती. तुम्हें निरंतर चलते जाना है, अपने पथ पर सतत अग्रसर रहना है.

तुम्हें अपनी मंजिल को पाना है, चाहे रास्ते में कांटे मिलें या चाहे राहों में फूलों का गुलदस्ता. तुमको निरंतर बिना रुके, बिना थके लगातार अपनी मंजिल की ओर धीरे-धीरे ही सही, लेकिन कदम बढ़ाते रहना है. तुम्हें तो जीवन में बस चलते ही जाना है. यही तुम्हारी नियति भी है.

दोस्तों ! पथ के शूल आपके रास्ते की रुकावट कभी नहीं बन सकते. तो आइये, आज की पोस्ट –You Can Do It-तुम इसे कर सकते हो में हम यही सीखेंगे कि तमाम मुश्किलों से पार पाकर हम अपनी मंजिल तक किस प्रकार पहुँच सकते हैं?

बाधाओं का क्या है, वो तो आएँगी ही

आपके रास्ते में कितने ही तूफान आयें, कितनी ही बाधायें आयें, कितने ही पर्वत तुम्हारा रास्ता रोकने का व्यर्थ प्रयास करें, चाहे कितने ही समंदर तुम्हारे सामने अपना रौद्र रूप दिखाएं, लेकिन तुमको हार नहीं माननी है. अपने आप को लगातार यह याद दिलाते रहना है कि चाहे जो हो जाये, मंजिल तक  पहुँचने से पहले किसी भी हाल में विश्राम नहीं करना है.

लाइफ है तो बाधाएं हैं, उनका काम ही राह में रुकावट बनना है. जीवन में निरंतर चुनौतियां आती रहेंगी. चुनौतियों का डटकर मुकाबला करना है, चुनौतियों को हराना है. हमें अपने आप को इतना मजबूत बना लेना है कि चुनौतियां हार मान कर खुद पीछे हट जाएँ. हमें खुद पीछे नहीं हटना है बल्कि चुनौतियों को ही पीछे धकेल देना है.

“सामने पर्वत है तो खुद को होशियार कर लो 

गहरी है नदी तो हौंसलो को पतवार कर लो 

बाधाएं कैसे रोक सकती हैं तुमको कभी 

लंबी छलाँग मारो और दरिया पार कर लो

उतार-चढ़ाव तो इस जीवन का एक पहलू है. कभी लाइफ में हमें बहुत आसानी होगी तो कभी जिंदगी जीना इतना मुश्किल लगेगा कि आप खुद को बड़ी मुश्किल से जीवन जीने के लिए राजी कर पाएंगे. चुनौतियां सदैव सबकी लाइफ में आती रही हैं, अभी भी आ रही हैं और आगे भी आती ही रहेंगी.

ये भी पढ़ें : Motivational Shayari in Hindi-प्रेरणादायक हिंदी शायरी

हौंसलों को बुलंद रखना है (You Can Do It)

अपने हौसलों में जान रखो और अपनी हिम्मत को बलवान रखो. कितनी भी रुकावटें हों, भले ही कितनी भी मुश्किलें हों, ये आपका रास्ता कभी नहीं रोक सकती. अपनी हिम्मत को अंत तक मजबूत बनाए रखना है. बस अपने आप को यह लगातार बताते रहना है कि आप जीतने के लिए बने हैं, आप रुकने के लिए बिल्कुल नहीं बने हैं. आखिर तक उम्मीद मत छोड़ना तुम.

आपको अपने आप को इतना मजबूत बना लेना है कि दुनिया की कोई भी ताकत आपको जरा सा भी हिला नहीं सके. अगर आप यह कर पाए तो दुनिया की हर एक मंजिल आपके कदमों में होगी.

जिंदगी है तो इसमें संघर्ष है, चुनौतियां हैं और कदम-कदम पर दुश्वारियां हैं.  मगर इन बाधाओं को पार करने का हौसला एवं हिम्मत हमें खुद को दिखाना ही होगा. हमें दुनिया को यह बताना ही होगा कि हम जो चाहें, वह पा सकते हैं.

दुनिया की किसी भी चीज में इतनी हिम्मत नहीं कि वह हमारे रास्ते की रुकावट बन सके, हमारे रास्ते में बाधाएं उत्पन्न कर सके. हम जो चाहे वह पा सकते हैं, बस हमें इसके लिए अपने अंदर लगातार नई हिम्मत, नई उर्जा  एवं नए जोश के साथ काम करना होगा.

you can do it
you can do it

विश्वास करें कि आप यह कर सकते हैं (You Can Do It)

जब हम चलते-चलते थक जाते हैं तो उस थकावट में हमें यह महसूस होता है कि अब हम पूरी तरह थक चुके हैं और हममें अब बिल्कुल भी हिम्मत नहीं बची है. हम जीवन से पूरी तरह हार चुके हैं. शायद अब हम मंजिल को कभी नहीं पा सकते.

लेकिन यह सब सोचना व्यर्थ का सोचना है. यह सब सोचने से ना केवल हमारी हिम्मत टूटती है, ना केवल हम अपने आप को निर्बल बना लेते हैं बल्कि साथ ही साथ हमारे आगे के सारे रास्ते भी हमेशा-हमेशा के लिए बंद हो जाते हैं.

इसलिए हमको अपने आप को निरंतर यह संदेश देते रहना है कि हम थकेंगे नहीं, रुकेंगे नहीं, बस चलते रहेंगे. अपने आपको मंजिल से पहले विश्राम नहीं देंगे, जब तक हम अपने लक्ष्य को हासिल नहीं कर लेते. जब आप अपनी मंजिल की तरफ धीमे-धीमे कदमों से भी चलते रहते हैं एवं विश्राम नहीं करते तो यकीन मान कर चलिए एक दिन आपकी मंजिल आपके कदमों में जरूर आ जाएगी.

“नकारात्मक मत सोचो ये सब ख्याल हैं जो बेकार जाते हैं 

खुद को मजबूत समझोगे तो मन में अच्छे विचार आते हैं 

जिनके हौंसले मजबूत होते हैं उनको मिलती है मंजिल 

उनको कभी भी कुछ नहीं मिलता जो हिम्मत हार जाते हैं”

आपने सुना ही होगा कि इंसान के हौसलों के सामने दुनिया की हर एक ताकत को झुकना पड़ता है. कितनी भी बलशाली और कितनी भी ताकतवर आपके सामने बाधा हो, लेकिन अगर आप चट्टान का सा हौसला, शेर का सा जिगर रखते हैं तो यकीन मान कर चलिए जो आप चाहते हैं, वह आपको मिलकर रहेगा.

आप अपने बारे में सबसे बेहतर जानते हैं. आप अपनी कमियों को बहुत अच्छे से जानते हैं और आप अपनी सभी खूबियों को भी अच्छे से पहचानते हैं. इन सबको आप एक साथ लेकर दुनिया का हर एक लक्ष्य, हर एक मंजिल को बिलकुल पा सकते हैं.

ये भी पढ़ें : Why You Should be Hopeless-उम्मीद मत छोड़ना तुम

संकल्प को मजबूत बनाये रखें (You Can Do It)

जब भी आपका रुकने का मन करे, जब भी थकान में चकनाचूर हो कर आपका शरीर निढाल होने लगे तो उसी वक्त अपने मन-मस्तिष्क में बहुत ही ऊर्जा एवं जोश के साथ एक चीज जरूर सोचिएगा कि जब आपको थकना ही था या बीच राह में रुकना ही था तो आपने फिर शुरुआत ही क्यों की थी?

क्या आप अब सफ़र के बीच रुककर जमाने को अपना चेहरा दिखा पाएंगे? क्या आपने जो सपने देखे थे, उनको पूरा कर लिया है? अगर आपको इसका जवाब नहीं मिलता है तो मान कर चलिए कि आप का अभी तक का सारा प्रयास, परिश्रम या मेहनत सब कुछ व्यर्थ चला गया.

आपको अभी से, इसी वक्त से तुरंत अपनी धूल झाड़ कर खड़े हो जाना है. अपने आप को फिर से यह ताकतवर संदेश देना है कि क्या हुआ जो कुछ देर के लिए बाधाओं ने मुझ पर विजय पा ली? क्या हुआ जो मैं कुछ देर के लिए अपने संकल्प को कमजोर बना बैठा?

लेकिन मैं अभी और इसी इसी क्षण से यह एक मजबूत संकल्प लेता हूं कि आज से और अभी से मैं अपने आप को इतना मजबूत और ताकतवर बना लूंगा कि कोई भी, लक्ष्य कोई भी उद्देश्य  आज के बाद मैं जरूर प्राप्त कर लूंगा. मुझ में ताकत है, मुझमें हिम्मत है, मुझमें  हौसला है एवं मुझमें गज़ब की ऊर्जा है.

“जब आप अपनी हिम्मत को नयी बुलंदियों पर ले जायेंगे 

तो पर्वत छोड़ देंगे रास्ता और सागर भी शीश झुकाएंगे

अगर आपने ठान लिया है मन में कुछ करने का संकल्प 

तो देखेगी दुनिया एक दिन जब आप नया इतिहास बनायेंगे”

तुम्हें कौन रोक सकता है (You Can Do It)

मंजिल से पहले वह लोग रुक जाते हैं, जिनके हौसलों में जान नहीं होती. मंजिल से पहले वही लोग थक कर चकनाचूर हो जाते हैं, जिनको खुद पर भरोसा नहीं होता. मंजिल उन्हीं लोगों को नहीं मिलती, जिनको अपने आप पर भरोसा नहीं होता.

मंजिल उन्हीं लोगों को मिलती है जो खुद पर हिम्मत रखते हैं, खुद पर विश्वास करते हैं एवं खुद की ताकत को कई गुना बढ़ा कर अपनी मंजिल की तरफ लगातार चलते रहते हैं. उन लोगों को हिम्मत और हौंसला खुद के अंदर से मिलता है और जब अपने अंदर से आप मजबूत बना लेते हैं तो दुनिया का हर एक लक्ष्य, हर एक टारगेट आपका हो जाता है.

यही जीवन है. इसमें तुम्हें कौन रोक सकता है? तुम्हें कोई नहीं रोक सकता. केवल रोक सकता है, तो केवल तुम खुद रोक सकते हो. तुम्हारी अपनी कमजोरी तुम्हें रोक सकती है. तुम्हारा कमजोर संकल्प तुम्हें रोक सकता है.

अतः हे श्रेष्ठ मनुष्य ! मन में मजबूत संकल्प के साथ, नये इरादों के साथ, बेहतर हौंसलों और हिम्मत के साथ आगे बढ़ो एवं विजयश्री प्राप्त करो. जीवन में जो कुछ भी चाहते हो, वह सब तुम्हारा है. तुम श्रेष्ठ वीर हो, आगे बढ़कर चहुँ-दिशाओं में अपनी विजय-पताका फहरा दो.

इसका वीडियो भी देखें :

अगर आपको वीडियो देखना पसंद है तो हमारे YouTube channel पर visit कीजिये, जिसका नाम है दिल से शायरी.

तो दोस्तों ! ये थी आज की पोस्ट-You Can Do It-तुम इसे कर सकते हो.आज की ये पोस्टआपको कैसी लगी, हमें अपनी राय या Suggestion जरुर बताइयेगा. और भी ऐसे बेहतरीन लेख पाने के लिए आप हमें Subscribe जरुर कीजिये.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!